10 Unbelievable Sports In The World | दुनिया के 10 सबसे अविश्वसनीय खेल

Unbelievable-Sports-In-The-World

जैसा की सभी जानते है दुनियाभर के अधिकतर सभी देशो में कई तरह की खेल प्रतियोगिताएँ होती है। जिसमे क्रिकेट, फुटबोल, हॉकी, शतरंज आदि जैसे कई खेल शामिल है। वैसे तो इन सभी खेलों में अधिकतर के बारे में आप जानते होंगे। परन्तु कुछ देशो ऐसे भी है जिनमे बहुत ही अनोखी तथा अविश्वसनीय खेल प्रतियोगिताएँ करवाई जाती है। जानिये दुनिया के 10 सबसे अविश्वसनीय खेलों के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें।

 

Unbelievable-Sports-In-The-WorldCREDIT OF IMAGE : Tscheipi on Wikimedia

Unbelievable Sports In The World In Hindi :-

 

1.) चेस बॉक्सिंग :- चेस बॉक्सिंग नामक इस खेल की शुरआत जर्मनी के बर्लिन शहर में 2003 में की गई थी इस खेल में शतरंज और बॉक्सिंग के कुल मिलाकर 11 राउंड होते है। जिसमे से बॉक्सिंग का प्रत्येक राउंड 3 मिनट और शतरंज के 6 राउंड होते है। शतरंग के इन 6 राउंड का कुल समय 18 मिनट जिसमे से प्रत्येक खिलाडी को 9 मिनट का समय दिया जाता है। इस खेल में किसी भी खिलाडी को बॉक्सिंग में नॉक आउट, शतरंज में शह और मात, या न्यायाधीशों के फैसले द्वारा जीत प्राप्त होती है।

2.) शिन-किकिंग :- शिन-किकिंग नामक इस खेल की शुरआत इंग्लैंड में 17वीं शताब्दी में हुई थी। उस समय इस खेल को कॉट्सवॉल्ड ऑलिंपिक गेम्स का सबसे मशहुर खेल माना जाता था। इस खेल में प्रत्येक खिलाडी के पेंट के अन्दर घुटनों से निचे घांस भरी जाती है और सफ़ेद रंग का कोट पहनाया जाता है। इस खेल में दोनों खिलाडी एक-दुसरे का कॉलर पकड़ कर पैरों से एक-दुसरे के पैरों पर मार कर जमीन पर गिराने का प्रयास करते है। इस खेल प्रतियोगिता को जीतने के लिए किसी भी खिलाडी को अपने प्रतिद्वंद्वी को 3 में से कम से कम 2 बार हराना पड़ता है।

3.) विंडसर पम्पकिन रेगाटा :- विंडसर पम्पकिन रेगाटा नामक इस खेल शुरआत विशालकाय कद्दू उगाने वाले डैनी डिल द्वारा सन 1999 में की गई थी। इस खेल में खिलाडी नाव की जगह लगभग 250 से 300 किलो के कद्दुओं को अंदर से खली कर उसमे सवार होकर पानी में रेस लगाते है। यह 800 मीटर की इस अनोखी रेस की प्रतियोगिता कनाडा के नोवा स्कोटिया के पास एवन नदी में की जाती है।

 

4.) एक्सट्रीम आयरनिंग :- एक्सट्रीम आयरनिंग नामक इस खेल की शुरआत 1997 में इंग्लैंड के लीसेस्टर शहर में रहने वाले फिल शो नामक व्यक्ति द्वारा की गई थी। इस खेल में प्रतियोगी को कपड़ो पर इस्त्री करनी होती है परन्तु इन कपड़ो को इस्त्री किसी बहुत ही अनोखे तथा अविश्वसनीय स्थान पर जा कर करनी होती है। जैसे पहाड़ की छोटी और चढ़ कर या लटकते हुए, साइकिल चलाते हुए या दौड़ते हुए जैसे आप चाहें। इस खेल में प्रतियोगी को उसका इस्त्री करने का स्थान और इस्त्री हुए कपडे के अनुसार हार या जीत का फैसला सुनाया जाता है।

5.) यूनिसाइकिल पोलो :- यूनिसाइकिल पोलो नामक इस खेल को सबसे पहली बार सन 1925 में बनी जर्मन फिल्म वैराइटी में दिखाया गया था। इस खेल में 5-5 खिलाडियों की 2 टीम होती है। यह खेल हॉकी की तरह खेला जाता है परन्तु इसमें खिलाडी एक टायर वाली साइकिल पर सवार होकर खेलते है। और इस खेल में किसी भी टीम द्वारा कोई गोलकीपर नहीं रखा जाता। इस खेल का मैदान लगभग 45 मीटर लम्बा और 25 मीटर चौड़ा होता है।

6.) बोस्साबॉल :- बोस्साबॉल नामक खेल की शुरआत साल 2005 में स्पेन में की गई थी। यह खेल वॉलीबॉल, फुटबोल तथा जिमनास्टिक्स का एक मिश्रण है। वैसे तो यह खेल वॉलीबॉल से काफी मिलता जुलता है परन्तु इस खेल में हाथों के अतिरिक्त पैरों से बॉल को मरने की अनुमति होती है। यह खेल 4-4 खिलाडियों की 2 टीमों के बीच खेला जाता है। इस खेल में दोनों टीमों की तरफ रबड़ के उछालपटेगे होते है जिससे खिलाडी को उछल कर बॉल को मरने में सहायता मिलती है।

7.) मोबाइल फ़ोन थ्रोविंग :- मोबाइल फ़ोन थ्रोविंग नामक इस खेल की शुरआत सन 2000 में फ़िनलैंड में की गई थी। इस खेल में खिलाडियों को जीतने के लिए अपना फ़ोन सबसे लम्बी दुरी तक फेकना होता है। इस खेल में 220 ग्राम से 400 ग्राम के फ़ोनों को ही शामिल किया जाता है। इस खेल में भाग लेने वाले प्रतियोगी के लिए कोई आयु सीमा निर्धारित नहीं की गई है। इस खेल में बच्चों की भी प्रतियोगीता करवाई जाती है जिसमे केवल 12 वर्ष या उससे कम आयु के बच्चों को शामिल किया जाता है। 

 

8.) सेपक टकराव :- सेपक टकराव नामक इस खेल को सबसे पहली बार मलेशिया की मलक्का सल्तनत में 15वीं शताब्दी में खेला गया था। वैसे तो यह खेल पूरी तरह से वॉलीबॉल जैसा है परन्तु इस खेल में हाथों की जगह केवल पैरों का प्रयोग किया जाता है। इस खेल में प्रयोग होने वाली बॉल सिंथेटिक फाइबर से बनी होती है। इस खेल में 3-3 खिलाडियों की 2 टीमें खेलती है। इस खेल में हार जीत का फैसला प्रत्येक टीम द्वारा प्राप्त किए गए पॉइंट्स के अनुसार किया जाता है। 

9.) वाइफ कैरिंग :- वाइफ कैरिंग नामक यह खेल सन 1992 से फ़िनलैंड के सोंकजर्वी शहर में हर साल आयोजित किया जाता है। इस खेल में प्रत्येक खेलाडी अपनी पत्नी को अपने कंधे से पीछे की ओर उल्टा लटका कर दौड़ लगता है। यह दौड़ 235 मीटर की होती है और इस दौड़ के रास्ते के दो भाग पर सुखी भूमि और एक भाग 1 मीटर गहरे पानी से भरा होता है। इस खेल में केवल 49 किलोग्राम से ज्यादा वजन की महिलाओ को शामिल किया जाता है।

10.) चीज़ रोलिंग :- चीज़ रोलिंग नामक यह खेल इंग्लैंड के ग्लॉस्टर में रहने वाले लोगो द्वारा शुरू किया गया था। यह खेल प्रतियोगीता हर साल इंग्लैंड के ग्लॉस्टर में स्थित कॉपर नामक पहाड़ी पर की जाती है। इस प्रतियोगीता हर साल कई लोग भाग लेते है। इस खेल में कठोर पनीर का एक टायर नुमा गोला बना कर उसे चारो ओर से रिबन से बांध कर पहाड़ी से निचे लुढ्काया जाता है। खिलाडियों को उस पनीर के गोले को पहाड़ी के निचे बनी अंतिम रेखा तक पहुँचने से पहले पकड़ना होता है।

 

Facebook Comments

comments