Most Interesting Facts About Aliens In Hindi | एलियंस के बारे में सबसे दिलचस्प तथ्य

Facts about aliens

वैसे तो दुनियाभर से लगभग हर साल एलियंस के देखे जाने की ख़बरें आती रहती है। परन्तु यह कोई नहीं जानता कि वह पृथ्वी पर कहा से और क्या करने आते है। कुछ लोगो का यह भी मानना है कि अमेरिका में एरिया 51 नामक जगह पर एलियंस हैं और उन पर परीक्षण किए जाते है। जानिये एलियंस के बारे में सबसे दिलचस्प तथ्य।

 

Facts about aliens

Interesting Facts About Aliens :-

अमेरिका :- अमेरिका दुनिया में सबसे ज्यादा उड़न तश्तरी देखे जाने वाला देश माना जाता है। एक रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका में हर साल लगभग 5 से 6 हजार उड़न तश्तरियां देखी जाती है। 8 जनवरी 2008 के दिन अमेरिका के टेक्सास शहर के आसमान में लगभग दर्जनों लोगो द्वारा एक गोल चमकती हुई रौशनी को देखा गया था। वह चमकदार गोला करीब 2 घंटे तक धीरे-धीरे टेक्सास के ग्रामीण इलाको में लगभग 110 किलोमीटर के दायरे में घुमती रही। अमेरिका सरकार द्वारा इसे आँखो का भ्रम बताया गया। परन्तु लोगो का मानना है कि वो कोई आँखों का भ्रम नहीं बल्कि वह एक उड़न तश्तरी थी।

दुनिया में सबसे पहली बार 10 मई 1760 के दिन अमेरिका के ब्रिजवाटर और रोक्स्बरी में बहुत से लोगो द्वारा असमान में चमकते गोले को देखा गया। यह गोला सुबह के 10 बजे के आसपास देखा गया और यह गोला इतना चमकदार था कि खिली हुई धुप में भी परछाई बन रही थी। यह बात उस समय की सबसे मशहूर अंग्रेजी पत्रिका द जेंटलमैन मैगज़ीन में भी छापी गई थी। इस घटना की सबसे ख़ास बात यह है कि उस समय तक मनुष्यों द्वारा आसमान में उड़ने वाली किसी भी चीज़ की खोज नहीं की गई थी।

 

भारत :- साल 1947 में भारत के आजाद होने मात्र कुछ ही महीने पहले उड़ीसा के नयागढ़ शेत्र में रहने वाले लोगो द्वारा उड़न तश्तरी को धरती पर उतरते हुए देखा गया था। यह गोल आकार की उड़न तश्तरी नयागढ़ के पहाड़ी इलाके में उतरे थे। इसके कुछ समय बाद अमेरिकी वायुसेना द्वारा यहाँ से एक उड़न तश्तरी भी बरमाद की गई थी। परन्तु अमेरिकी और भारतीय सरकार द्वारा इस घटना की बात को दबा दिया गया था।

वैसे तो अधिकतर वैज्ञानिकों का मानना है कि एलियंस पृथ्वी के कई भागो में छुप कर रहते है। साल 2010 में भारत में जम्मू-कश्मीर के लद्दाख शेत्र में भारतीय सेना द्वारा उड़न तश्तरी जैसे अनजान चीज़ को आसमान में उड़ते हुए देखा गया था। यहाँ पर रहने वाले लोगो तथा पर्यटको द्वारा भी कई बार ऐसी अनजान चीजों को उड़ते हुए देखा गया है। परन्तु वैज्ञानिक इस बात को मानने से इंकार करते है .

 

समुद्र :-  मार्च 1963 में पुएर्तो रिको से लगभग 120 किलोमीटर दूर समुद्र में ट्रेनिंग कर रही अमेरिकी नौसेना को अपने आसपास धूम रहे एक सोनार के संकेत मिले। करीब 4 दिनों तक उन्होंने उसकी तालाश की परन्तु सिर्फ इतना ही जान पाए कि वह 270 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ़्तार से चल रहा है। जबकि दुनिया की किसी भी नौसेना के पास ऐसी कोई चीज़ नहीं है जो समुद्र में इतनी तेज रफ़्तार से चल सके। उस सोनार की सबसे ख़ास बात यह है कि वह समुद्र में लगभग 8 हजार मीटर की गहराई में चली गई थी। जबकि समुद्र की इतनी गहराई में पानी का दबाव आने वाली किसी भी चीज़ के टुकड़े-टुकड़े देता है।

साल 1945 में एलेउटियन द्वीप के पास अमेरिकी सेना के 14 सदस्यों ने उड़न तश्तरी देखे जाने का दावा किया था। उनका कहना था कि उन्होंने सूर्य के डूबते समय एक उड़न तश्तरी जैसे दिखने वाली गोल सी चीज़ को समुद्र से बहार निकलते देखा था। उस गोल सी चीज़ ने समुद्र से बहार निकलकर आसमान में उड़ते हुए उनकी नाव के चारो ओर 2 से 3 चक्कर लगाए और गयाब हो गई। परन्तु गयाब होने से पहले वह लगभग 7 से 8 मिनट तक उड रही थी। जबकि आज तक ऐसी कोई चीज़ नहीं बनी जो इस तरह समुद्र से बाहर आकर उड़े और गयाब हो जाए।

 

अंतरिक्ष :- साल 1969 में नासा द्वारा चाँद पर भेजे गए अंतरिक्ष यान पर सवार बज़ एल्ड्रिन ने यात्रा के समय एक विडियो रिकॉर्ड किया था। जिसमे चाँद के पास एक उड़न तश्तरी जैसा देखने वाला यान उड़ता दिखाई दिया। जब नासा से इसके बारे में पूछा गया तो उन्होंने इसे अपने ही अंतरिक्ष यान की लाइट बताया। परन्तु दुनियाभर के बहुत से लोग इस अपोलो 11 नामक चाँद पर जाने के मिशन को झुटा मानते है।

CREDIT OF FEATURED IMAGE : P199 on Wikimedia

Facebook Comments

comments